Wednesday, October 6, 2021

How to select title for for youtube video

हेलो दोस्तों मैंने अपनी पिछली पोस्ट में आपको बताया था कि हमें कौन सा डोमेन खरीदना चाहिए नया डोमेन खरीदना चाहिए या पुराना डोमेन खरीदना चाहिए और अगर पुराना डोमेन खरीदना चाहिए तो क्यों खरीदना चाहिए और नया डोमिन खरीदना चाहिए तो वह क्यों खरीदना चाहिए और इन दोनों को खरीदने के फायदे और नुकसान।मैंने आपको बताया था अगर आपने वह पोस्ट नहीं पढी है तो आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके उसके बारे में पढ़ सकते हैं।

How to select title for for youtube video
How to select a title

how to choose title for youtube video

इस पोस्ट में हम जानेंगे कि यूट्यूब वीडियोस के लिए टाइटल कैसे सेलेक्ट करते हैं आज हम इस बारे में जानेंगे कि कैसे आप एक अच्छा बेस्ट यूट्यूब वीडियो टाइटल अपनी वीडियो के लिए लिख सकते हैं। 

चलिए दोस्तों शुरू करते हैं सबसे पहले हमने जो भी वीडियो बनाई है जिस भी कंटेंट के बारे में वीडियो बनाई है या जिस भी टॉपिक पर वीडियो बनाई है वह टेक्नोलॉजी से रिलेटेड हो या किसी और अदर फील्ड से रिलेटेड हो।

आपको उसके बारे में पहले यूट्यूब पर और गूगल सर्च पर सर्च करना है की गूगल और यूट्यूब सर्च उसके बारे में आपको क्या कीवर्ड सजेस्ट कर रहे हैं इसके लिए आप गूगल कीवर्ड प्लानर का भी यूज कर सकते हैं। 

अगर आप उसका यूज़ नहीं करना चाहते तो आप डायरेक्टली यूट्यूब सर्च में जाकर यूट्यूब के सर्च बार में वह की वर्ड टाइप कर सकते हैं जिस बारे में आपने वीडियो बनाई है जैसे कि आपने आधार कार्ड टू पैन कार्ड लिंक कैसे करें इस बारे में वीडियो बनाई है।

How you choose best title for youtube video

तो आप लिख सकते हैं आधार कार्ड तो अपने आप ऑटोमेटिक यूट्यूब जो है आपको बहुत सारे कीवर्ड सजेस्ट कर देगा जो कि इंटरनेट यूजर्स  हर रोज यूट्यूब पर सर्च कर रहे हैं तो आप उन्हीं कीवर्ड से जिनकी कीवर्ड की सर्च वॉल्यूम ज्यादा है उनकी कीवर्ड को अपनी वीडियो के टाइटल्स में रखिए।

इनको हम ऑर्गेनिक कीवर्ड भी कह सकते हैं ऑर्गेनिक कीवर्ड क्या होते हैं इसके बारे में भी आप नीचे क्लिक करके पढ़ सकते हैं फिलहाल हम हाउ टू शूज बेस्ट टाइटल फॉर युटुब वीडियोस के बारे में बात कर रहे हैं। 

इन ऑर्गेनिक सेंटेंस को सेलेक्ट करने का फायदा हमें यह मिलता है कि जब भी कोई इंटरनेट यूजर यूट्यूब पर वह कीवर्ड सर्च करेगा जो कि आपने यूट्यूब वीडियो टाइटल सेट किया हुआ है ऑलरेडी तो आप की वीडियो उसके सामने सबसे पहले शो होगी।

जिससे कि आपको अच्छा खासा ट्रैफिक अपनी वीडियो पर मिलेगा और और आपकी वीडियो रैंक भी हो पाएगी।

ज्यादा अच्छे से समझने के लिए आप नीचे दी गई वीडियो पर क्लिक करके भी देख सकते हैं कि कैसे आपने कीवर्ड सर्च करना है कैसे आप सेलेक्ट कर सकते हैं यूट्यूब वीडियो का टाइटल।


Related Post:-

1. youtube to mp3 converter free कैसे करे।


आशा करता हूं यह छोटी सी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी अगर अच्छी लगी तो प्लीज इसको शेयर जरूर कीजिएगा। 


धन्यवाद।

Saturday, September 25, 2021

Konsa domain name kharide || Expired or New

दोस्तों आज हम इस पोस्ट में जानेंगे हमें कौन सा डोमेन खरीदना चाहिए नया डोमेन खरीदना चाहिए या पुराना डोमेन खरीदना चाहिए तो आइए दोस्तों शुरू करते हैं कि कौन सा डोमेन जो हमारी वेबसाइट के लिए ज्यादा अच्छा है।

Konsa domain name kharide
Konsa domain name kharide

which domain is best for website

सबसे पहले आपको बता दूं अगर आप ब्लॉगिंग करना चाहते हैं तो आपको स्टार्टिंग में थोड़ा पैसा खर्च करना पड़ सकता है एक अच्छे डोमेन के लिए और होस्टिंग के लिए अगर आप तैयार हैं पैसा खर्च करने के लिए तो हम आपको यही प्रॉपर करेंगे कि आप जो है। 

पहले पुराने डोमेन पर जाएं पुराना डोमेन खरीदने के फायदे पुराना डोमेन खरीदने से आपको जो है बने बनाए बैकलिंक्स मिल जाते हैं आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं होती क्योंकि वह डोमेन ऑलरेडी जो है गूगल में रैंक होता है। 

Benefits of expired domains  

सबसे पहला फायदा तो यह है कि आपको बैकलिंक्स बने बनाए मिल जाते हैं क्योंकि जो भी पुराना डोमेन होता है उसके कोई ना कोई बैकलिंक जरूर होते हैं और अगर आप पुराना डोमेन खरीद रहे हैं। 

आपको उसके बैकलिंक जरूर चेक करने चाहिए उसके ऑलरेडी बैकलिंक्स होने के कारण उस पर ट्रैफिक पहले से आता है उस चीज का आपको फायदा मिल जाएगा।

दूसरा बैक लिंक दूसरा यह है कि पुराना डोमेन पहले से गूगल में रैंक होता है या गूगल को उस डोमेन के बारे में पहले से पता होता है तो यह फायदा भी आपको पुराना डोमेन खरीदने पर मिल जाता है। 

which domain is best for seo

दोस्तों अगर SEO की नजर से देखा जाए तो भी हमारी साइट के लिए पुराना डोमेन ज्यादा बेहतर होता है क्योंकि एक नए डोमेन को गूगल में रैंक करवाने के लिए बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है ज्यादा से ज्यादा शेयर करना पड़ता है गेस्ट पोस्ट डालनी पड़ती है और भी बहुत से ऐसे काम करने पड़ते हैं जिससे कि आपकी वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा लोग पहचान सके। 

लेकिन एक पुराने डोमेन में यह सभी चीजें हमको पहले से बनी बनाई मिल जाती है बैकलिंक्स बने बनाए मिल जाते हैं जोकि किसी भी वेबसाइट के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है। 

हालांकि गूगल ऐसा नहीं कहता कि बैकलिंक्स आपकी साइट के लिए रैंकिंग फैक्टर है लेकिन फिर भी कुछ हद तक बैकलिंक्स आपकी साइट की रैंकिंग पर प्रभाव डालते हैं। 

दूसरा एक्सपायर डोमैंस SEO की दृष्टि से इसलिए भी अच्छा होता है क्योंकि पहले से गूगल में रैंक होता है पहले से बहुत से लोग उसको जानते हैं पहचानते हैं तो इस बात का फायदा भी आपको मिल जाता है। 

पुराना डोमेन खरीदते समय ध्यान रखने योग्य बातें 

  • कोई भी डोमेन खरीदने से पहले आपको डोमेन के उस डोमेन के बैकलिंक्स को जरूर चेक करना चाहिए।
  • सबसे पहले आपको उस डोमेन के बैकलिंक चेक करने दूसरा पुराना डोमेन खरीदते समय आपका प्राइमरी keyword उस डोमेन नेम में होना चाहिए जो कि आपके लिए काफी फायदेमंद रहेगा और एक रैंकिंग फैक्टर भी रहेगा। 
  • तीसरा पुराना डोमेन खरीदते समय आपको क्वालिटी बैकलिंक्स जरूर चेक करने चाहिए। 
  • आपको यह देखना है कि जो भी बैकलिंक्स आपको उस डोमेन के साथ मिल रहे हैं वह किन किन साइटों से है। 
  • उन साइट की niche क्या है अगर उन सभी बैकलिंक्स साइटो कीं niche भी आपकी साइड के niche से मेल खाती है तो आपके लिए यह काफी फायदेमंद होगा।

निष्कर्ष :-

अगर आप एक एक्सपायर डोमेन खरीदते हैं यानी कि एक पुराना डोमेन खरीदते हैं तो आपको उसके जो बैकलिंक्स है उसका फायदा तो मिलता है साथ ही साथ पुराने समय में उस डोमेन पर कितना ट्रैफिक आता था और वह डोमेन कितना ज्यादा रैंक कर रहा था इस चीज का फायदा भी आपको मिलता है अगर आप एक पुराना डोमेन खरीदते हैं।

लेकिन दोस्तों पुराने डोमेन को खरीदने के लिए आपको ज्यादा पैसे देने पड़ते हैं जितने ज्यादा बैकलिंक्स होंगे उसने ज्यादा पैसे डोमेन नेम के भी होंगे तो अगर आप एक न्यू ब्लॉगर हैं और आप ज्यादा पैसे इन्वेस्ट नहीं कर सकते तब तो आपको एक नया डोमेन खरीद लेना चाहिए क्योंकि वह कम पैसों में मिल जाता है और एक्सपायर डोमैंस हमें ज्यादा पैसों में मिलता है और एक्सपायर डोमैंस को चेक करने के लिए उसके बैकलिंक्स को चेक करने के लिए उसके गूगल रैंकिंग को चेक करने के लिए और कौन सा एक्सपायर डोमेन ज्यादा बेस्ट है यह सब चेक करने के लिए कुछ पेड़ टूल्स का की जरूरत पड़ती है तो एक नया ब्लॉगर यह सब अफोर्ड नहीं कर सकता लेकिन अगर आपके पास पहले से ही अच्छा खासा इनकम सोर्स है और पैसे हैं तो आप ऐसा कर सकते हैं।

दोस्तों हमने आपको दोनों पहलू बता दिए हैं तो अब निश्चय आपको करना है कि आप नया डोमेन नेम खरीदोगे या पुराना।

changing domain name seo impact in hindi

हेलो दोस्तों आज हम इस पोस्ट में बात करेंगे की डोमेन नेम चेंज करने से SEO पर क्या फर्क पड़ता है तो सबसे पहले बात करते हैं डोमेन नेम क्यों चेंज करना पड़ता है दोस्तों आपने देखा ही होगा जब भी हम DOMAIN बाय करते हैं या डोमेन खरीदते हैं तो पहले साल के लिए तो हमें डोमेन बहुत ही कम पैसों में या अच्छे domain offers  साथ दे दिया जाता है।

changing domain name seo impact
changing domain name seo impact


लेकिन जब हम उसको रिन्यू करवाते हैं अगले साल तो उसकी कीमत पहले साल के मुकाबले काफी ज्यादा बढ़ जाती है दरअसल डोमेन प्रोवाइड करने वाली कंपनियां जानबूझकर ऐसा करती है क्योंकि उनकी Earning डोमेन के रिन्यू होने पर ही होती है। 

पहले साल के लिए, जानबूझकर अच्छे-अच्छे ऑफर देकर लोगों को डोमेन बाय करने के लिए लालच देती है जितनी भी डोमेन प्रोवाइड करने वाली कंपनियां है जैसे:- Hostinger ,Name cheap, GoDaddy.

यह सभी कंपनियां पहले साल के लिए डोमेन नेम काफी कम पैसों में देती है लेकिन जब अगले साल उस डोमेन को रिन्यू करवाने का समय आता है तो उसकी कीमत दोगुनी या तीन गुनी हो जाती है। 

ऐसे में जब वेबसाइट ओनर अपनी वेबसाइट पर ज्यादा पैसे खर्च नहीं करना चाहता या कोई ऐसा ब्लॉगर जिसकी साइट अभी ज्यादा बड़ी नहीं है या ना ही गूगल में रैंक की हुई है तो वह डोमेन को रिन्यू करवाने की बजाय एक नया डोमेन खरीदना पसंद करता है जो कि उसको रिन्यू करवाने से ज्यादा सस्ता पड़ता है।

Domain name change karne se SEO par kya impact padta hai 

दोस्तों गूगल के अकॉर्डिंग देखा जाए तो गूगल ब्लॉक्स में लिखा हुआ है कि डोमेन नेम साइट के लिए रैंकिंग फैक्टर नहीं है लेकिन हमारे एक्सपीरियंस के मुताबिक जितना भी देखा गया है डोमेन नेम कहीं ना कहीं रैंकिंग फैक्टर जरूर है  देखिए कैसे:- 

डोमेन नेम हमारी साइट का नाम होता है भले ही हम अपनी साइट को एक नाम दे देते हैं लेकिन बहुत से लोग हमारी साइट को हमारे डोमेन नेम के नाम से ही जानते हैं जैसे कि मेरी साइट का नाम है BkayBlogs. 

लेकिन मैं अक्सर अपने दोस्तों या अपने पाठकों से यही सुनता हूं bkayblogs.in और मेरे दोस्त भी अगर मेरे से पूछते हैं तो यही पूछते हैं bkayblogs.in कैसा चल रहा है bkayblog.in कहां तक रैंक कर रहा है तो कहीं ना कहीं डोमेन नेम काफी मायने रखता है। 

which domain is best .com or .in

आप जब भी domain name बदल रहे हैं चाहे आप subdomain से Paid domain पर मूव कर रहे हो तो आपको यह जरूर ध्यान रखना है कि आपको जो भी डोमेन नेम आप खरीद रहे हो या जिस पर भी आप मूव कर रहे हो। 

उस डोमेन नेम में आपका प्राइमरी कीवर्ड यानी कि आपके साइट का नाम जरूर आना चाहिए यह आपके लिए रैंकिंग फैक्टर है यह समझ लीजिए। 

दूसरा आप जब डोमेन नेम बाय करते हो तो आपको सबसे पहले डॉट कॉम डोमेन नेम को प्रेफर करना चाहिए अगर .COM Domain Name ज्यादा कोस्टली है आप उसे खरीद नहीं सकते तो उसके बाद आप 

.in, .Org, .NET, .Online, .live, .co.in पर आप जा सकते हैं लेकिन सबसे पहले आपको .Com Domain पर ही जाना चाहिए। 

Benefits of buy .com domain name

  • सबसे पहला तो यही इजी टू रिमेंबर यानी कि आसानी से याद रखने वाला है।
  • दूसरा Trustable डॉट कॉम डोमेन पर लोगों का ज्यादा विश्वास है जब भी लोग कोई भी जानकारी सर्च करते हैं गूगल पर तो ज्यादातर लोग डॉट कॉम वाली साइट पर ही क्लिक करते हैं। 
  • तीसरा जितने भी फेमस ब्लॉगर हैं चाहे वह वर्डप्रेस पर काम करते हैं या ब्लॉगर पर वह मोस्टली डॉट कॉम डोमेन ही यूज करते हैं और डॉट कॉम डोमेन जल्दी रैंक भी हो जाता है तो इसलिए आपको डॉट कॉम डोमेन पर ही सबसे पहले जाना चाहिए।

changing domain name seo impact

दोस्तों अगर आप अपनी साइट का नाम चेंज कर देते हैं पहले कुछ हद तक ऐसा होता था कि आपकी साइट के ऊपर इंपैक्ट पढ़ता था लेकिन आज के टाइम में टेक्नोलॉजी इतनी ज्यादा बढ़ गई है कि आप आसानी से एक पुराने डोमैंस एक नए डोमेन पर मूव कर सकते हो बिना अपने SEO को लूज किए ठीक है दोस्तों तो आप बेझिझक अपनी साइट का डोमेन नेम चेंज कर सकते हैं। 

आपकी साइट के SEO पर कोई इंपैक्ट नहीं पड़ेगा आपका सारा कि सारा डाटा आपके नए डोमेन पर मूव हो जाएगा इसके लिए आपको यूट्यूब पर बहुत सारी वीडियोस मिल जाएगी जहां से आप जानकारी ले सकते हैं कि कैसे आप पुराने डोमेन से एक नए डोमेन पर मूव कर सकते हैं। 

दोस्तों हम अपनी अगली पोस्ट में बात करेंगे कि एक डोमेन को जब हम रिन्यू करते हैं तो कैसे उसको कम से कम पैसों में खरीदा जा सकता है अगली पोस्ट के लिए हमारे साथ बने रहिए हमारे यूट्यूब चैनल को भी लाइक कर लीजिए ताकि हमारी अगली पोस्ट की जानकारी भी आपको मिल सके और आप वीडियो के जरिए भी जानकारी को सीख पाएंगे।

आशा करता हूं कि यह जानकारी की डोमेन नेम चेंज करने पर हमारी साइट के SEO के ऊपर इंपैक्ट पड़ता है या नहीं आपको अच्छी लगी होगी तो कृपया इसको अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें ताकि वह भीइस जानकारी का लाभ उठा सकें। 

धन्यवाद।

Saturday, September 18, 2021

how to pick a good domain name - इन हिंदी।

दोस्तों किसी भी साइट का गूगल में रैंक करना काफी हद तक डिपेंड करता है उसके डोमेन नेम पर, जितना अच्छा डोमेन नेम होगा उतने ज्यादा चांसेस रहते हैं कि आपकी साइट गूगल में रैंक कर सकती है अब सवाल यह उठता है कि एक अच्छा डोमेन नेम कैसे चूज़ करें।

how to choose a domain name
How to choose good domain

how to choose a domain name

एक अच्छा डोमिन सेलेक्ट करने के लिए आपको सबसे पहले एक कीवर्ड सेलेक्ट करना है जोकि आपकी साइट के कंटेंट से रिलेशन रखता हो जैसे की आपकी ब्लॉग साइट टेक्नोलॉजी पर है तो आपको टेक्नोलॉजी से मिलता जुलता कोई वर्ड सेलेक्ट करना है टेक्नोलॉजी से रिलेटेड ही डोमेन नेम लेना है। 

उदाहरण के लिए:- 

अगर आपकी साइट आधार कार्ड से रिलेटेड है तो आधार कार्ड से रिलेटेड डोमेन नेम सेलेक्ट करने के लिए मान लीजिए कि आपका कीवर्ड आधार कार्ड ही है तो अब आपको अच्छा डोमेन नेम सर्च करने के लिए गूगल में लिखना है।  leandomainsearch.com 

how to pick a good domain name
leandomainsearch

साइट के सर्च बार मैं आपको अपना कीवर्ड यानी कि आधार कार्ड लिखकर सर्च पर क्लिक कर देना है अब आपको आपके साइट के लिए आपके कीवर्ड से रिलेटेड हजारों डोमेन नेम सर्च रिजल्ट में दिखाई देंगे। जिनमें से आप कोई भी अच्छा डोमेन नेम सेलेक्ट कर सकते हैं इस साइट पर दिखाए गए सभी नेम आप डॉट कॉम या डॉट इन डोमेन नेम के साथ बाय कर सकते हैं।

how to pick a good domain name
Pick a good domain name

how to choose a domain name for your blog

कुछ लोग डोमेन नेम खरीदते समय जो भी डोमेन उनको सस्ता मिलता है उसे खरीद लेते हैं लेकिन दोस्तों अगर आप ब्लॉगिंग की दुनिया में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको डोमेन नेम पर खासतौर पर ध्यान देना चाहिए और एक अच्छा जो मैंने नहीं खरीदना चाहिए और डोमेन नेम खरीदने से पहले आपको जो बातें ध्यान में रखनी है वह है:-

  • सबसे पहले आपको अपनी साइट का niche सेलेक्ट करना है या आपको पता होना चाहिए कि आपकी साइट का niche क्या है। 
  • दूसरा आपको अपनी साइट के अकॉर्डिंग ही एक मैन कीवर्ड सेलेक्ट करना चाहिए आपके साइड का मैन कीवर्ड जो कि आपकी साइट के लिए बिल्कुल परफेक्ट है और आपकी साइट को भी दर्शाता हो ऐसा कीवर्ड आपको सिलेक्ट करना है। 
  • उसके बाद जब आप डोमेन नेम बाय करते हो तो आप जो भी कीवर्ड आपने सेलेक्ट किया है उस कीवर्ड की हर महीने कितनी सर्च वॉल्यूम है यह भी आपने जरूर देखना है।
  • जितनी ज्यादा सर्च वॉल्यूम होगी उतना ज्यादा आपकी साइट के गूगल में  रैंक होने के चांसेस होंगे। 
  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आपको डोमेन नेम छोटे से छोटा रखना जो कि यूजर आसानी से याद रख सके।
  • डोमेन नेम खरीदते समय आपको यह भी देखना है कि अगर आप डोमेन लंबे समय के लिए खरीद रहे हैं तो ज्यादा बेहतर होगा। 
  • क्योंकि अक्सर ऐसा होता है की डोमेन नेम प्रोवाइड करने वाली कंपनियां पहले साल के लिए तो डोमेन नेम को कम पैसों में दे देती है लेकिन जब वह रिन्यू होता है तो उसकी कीमत पहले साल के मुकाबले काफी ज्यादा हो जाती है।

how to get good domain name

देखिए दोस्तों डोमेन खरीदते समय आपको अगर डॉट कॉम डोमेन मिल रहा है तो आप उसको ही बाय कीजिए क्योंकि:- 
  1. डॉट कॉम डोमेन गूगल में आसानी से  रैंक कर जाता है।  
  2. डॉट कॉम डोमेन वाली साइटों पर यूजर ज्यादा ट्रस्ट करते हैं। 
  3. उसके बाद अगर आप आपके साइट के लिए डॉट कॉम (.com) डोमेन अवेलेबल नहीं है तो आप .in डोमेन पर जा सकते हैं यह भी काफी अच्छा डोमेन है।
  4. आप आसानी से बोले जाने वाले वाक्य से मिलता जुलता कोई डोमेन खरीदना चाहते हैं तो वह भी आप खरीद सकते हैं। 

उदाहरण के लिए जैसे:-

अक्सर सवाल उठता है कि हम हम ऑनलाइन क्यों बाय करें तो उसके लिए whyvbuy.online डोमेन लिया जा सकता है।

Related Post:-

1Domain kya hai ? Domain name क्या है पूरी जानकारी।


आशा करता हूं अब आप आसानी से अपनी साइट के लिए एक अच्छा डोमेन नेम सेलेक्ट कर पाएंगेप्लीज इस जानकारी को अपने दोस्तों में और अपने सगे - संबंधियों में जरूर शेयर करें और अपने सभी सोशल मीडिया अकाउंट पर भी शेयर करें 

धन्यवाद।

Sunday, September 5, 2021

how to insert an image in html in hindi

how to insert an image in html

दोस्तों हम जब भी कभी साइ बना लेते हैं या कोई ब्लॉग बना लेते हैं ब्लॉगर पर तो ऐसे बहुत बार देखा गया है कि हम ऐसा सोचते हैं कि हमारी कोई एक फोटो या कोई भी आपकी मनपसंद फोटो या इमेज जो कि आप चाहते हैं कि यह फोटो मेरी साइट पर होनी चाहिए तो आज हम इसी विषय पर बात करेंगे कि कैसे आप जो एक इमेज को अपनी ब्लॉग साइट में ऐड कर सकते हैं

how to insert an image in html
how to insert an image in html

आपको यह तो पता ही होगा कि किसी भी वेबसाइट पर हम अगर कुछ भी show करना चाहते हैं तो उसके लिए हम को html का थोड़ा बहुत ज्ञान होना जरूरी है तभी तो है हम अपनी साइट को अच्छे से मेंटेन करके रख पाएंगे

how to align image in html 

आइए तो बात करते हैं कि कैसे हम अपने html tag में हम इमेज को ऐड करेंगे वैसे तो साइट पर फोटो ऐड करने के कई तरीके हैं लेकिन मैं यहां पर आपको दोस्त आसान तरीके के बारे में बताऊंगा 

पहली तरीके के बारे में बात करते हैं:-

जोकि है एचटीएमएल कोड को एडिट करके जिसमें कि आपको करना है इमेज टैग का इस्तेमाल जैसा कि नीचे उदाहरण में दिया गया है

 <img src=”(your image URL here)”>

आप इसको कॉपी कर सकते हैं और जहां पर लिखा है इमेज यूआरएल वहां पर आपको अपनी इमेज का जो भी इमेज आप अपलोड करना चाहते हैं यह साइट पर ऐड करना चाहते हैं वहां पर उस इमेज का url सेट कर दीजिए और एचटीएमएल कोड को सेव कर दीजिए next टाइम जब भी आप अपनी साइट को देखोगे तो आप उसको उस इमेज के साथ पाओगे 


html में इमेज ऐड करने का तरीका 


उनके लिए है जिनको एचटीएमएल की नॉलेज नहीं है यानी कि नए ब्लॉगर के लिए आपको करना क्या है 

1. साइड मैन मेनू में जा कर न्यू पोस्ट पर क्लिक करना है।

2. न्यू पोस्ट में आपको पता ही है कि इमेज ऐड करने का एक ऑप्शन दिया गया है ऊपर उस पर आपको क्लिक करना है


3. उसके बाद जो भी इमेज आपको साइट पर ऐड करनी है उसको सेलेक्ट करना है और सिलेक्ट करके अपलोड कर देना

4. उसके बाद आपको उस पोस्ट को कंपोज में से हटा कर एचटीएमएल में कर लेना


5. आपको उस इमेज का HTML कोड मिल जाएगा जैसा कि आपको चित्र में दिखाया गया है 

आप फिर उस HTML CODE  को कॉपी करके साइट के जिस हिस्से में उसकी इमेज को शो कराना चाहते हैं वहां पर ऐड कर सकते हैं अगर आपको एचटीएमएल का थोड़ा बहुत भी ज्ञान है तो आप HTML को एडिट करके भी ऐसा कर सकते हैं अगर एचटीएमएल के बारे में नहीं जानते तो 

1. आपको सिंपल ब्लॉगर डैशबोर्ड के लेफ्ट साइट मेंन्यू में लेआउट पर जाना है 
2. Add a Gadget पर क्लिक करना
 
3. उसके बाद HTML Java script का ऑप्शन को ऐड करना है और वहां पर इस कोड को पेस्ट कर देना और लेआउट को सेव कर देना
 

4.अपनी साइट को रिफ्रेश करके देखोगे तो आपको वह फोटो या इमेज साइट पर show  हो जाएगी


Related Post:-



आशा करता हु की ये जानकारी आपको अच्छी लगी होगी कृपया इस जानकारी को अपने सभी दोस्तों में जरूर शेयर करे। 

धन्यवाद। 

Wednesday, September 1, 2021

whatsapp business se paise kaise kamaye

आज के समय में जहां सब कुछ डिजिटल और ऑनलाइन हो गया है दुनिया भर के सभी बिजनेस धीरे - धीरे ऑनलाइन हो रहे हैं जो चीज लेने के लिए पहले हमको बाजार में जाना पड़ता था आज वह हमें घर पर ही बैठे बिठाये मिल जाती है और यह सभी इंटरनेट के चलते संभव हो पाया है आज मैं आपको बताऊंगा कि कैसे आप व्हाट्सएप की सहायता से अपने बिजनेस को ऑनलाइन लाकर पैसा कमा सकते हैं जी हां।

whatsapp business apk
whatsapp business

whatsapp se business kaise karen

दोस्तों अगर आप कोई शॉप चलाते हैं या आपका खुद का कोई बिजनेस है किसी भी प्रोडक्ट से रिलेटेड तो आप भी घर पर बैठे बिठाए व्हाट्सएप बिजनेस के माध्यम से अपने बिजनेस को और ज्यादा ग्रो कर सकते हो तो,

आइए दोस्तों बात करते हैं व्हाट्सएप बिजनेस के बारे में,

व्हाट्सएप बिजनेस क्या है? 

whatsapp business apk एक एप्लीकेशन है जो कि व्हाट्सएप कंपनी के द्वारा ही चलाई गई है यह एंड्रॉयड और एप्पल आईफोन दोनों के लिए उपलब्ध है इसमें आपको नॉर्मल व्हाट्सएप के फीचर्स के इलावा कुछ अन्य बिजनेस रिलेटेड फीचर्स भी दिए जाते हैं जिनका इस्तेमाल करके आप अपने बिजनेस को और ज्यादा ग्रो कर सकते है।


whatsapp business se kya hota hai

whatsapp business से क्या होता है व्हाट्सएप बिजनेस में आपको ऐसे कुछ फीचर दिए जा रहे हैं जिनका इस्तेमाल करके आप व्हाट्सएप पर अपना खुद का प्रोडक्ट का कैटलॉग बना सकते हैं अपने बिजनेस से रिलेटेड आपके जो भी प्रोडक्ट से उनकी आप पूरी लिस्ट बनाकर price tag के साथ और डिस्क्रिप्शन के साथ एक कैटलॉग बनाकर अपने व्हाट्सएप ग्रुप्स में शेयर कर सकते हैं जिससे कि लोग उनको देखकर अगर उन्हें कोई प्रोडक्ट पसंद आता है तो उसे वह कैटलॉग से खरीद भी सकते हैं।

whatsapp business vs whatsapp

व्हाट्सएप और व्हाट्सएप बिजनेस में काफी अंतर है नॉर्मल व्हाट्सएप में हम चैट कर सकते हैं फोटो और वीडियोस वगैरा अपने दोस्तों को सेंड कर सकते हैं लेकिन व्हाट्सएप बिजनेस में हमको पेमेंट लेने - देने और प्रोडक्ट का catalogue बनाने, ग्रुप एडमिन के फीचर, कस्टमर लेबल के फीचर ,business tools ,business profile और भी अन्य कई फीचर मिलते हैं जो कि हमें नॉर्मल व्हाट्सएप एप्लीकेशन में नहीं मिलते।


Whatsapp business features

1. Business Profile

  • बिजनेस प्रोफाइल में आपको आपके 
  • बिजनेस का नाम 
  • बिजनेस का डिस्क्रिप्शन 
  • बिजनेस का एड्रेस 
  • आप बिजनेस में कितने घंटे ऑनलाइन रहते हो या कितने घंटे सर्विस देते हो 
  • बिजनेस का ईमेल आईडी और 
  • बिजनेस का वेबसाइट 

यह सभी डिटेल जो है आप अपनी बिजनेस प्रोफाइल में ऐड कर सकते हैं।

2. Catalogue

कैटलॉग में आपके बिजनेस से रिलेटेड जितने भी प्रोडक्ट हैं उन सभी का आप नाम, प्राइस और डिस्क्रिप्शन के साथ कैटलॉग बना सकते हैं।

3. Messaging Features

(a) Away message:- ( Reply automatically when you're away)

away मैसेज जब आप किसी चैट पर कुछ समय तक रिप्लाई नहीं करते तो इस फीचर के जरिए ऑटोमेटिक रिप्लाई चला जाता है ऑटोमेटिक रिप्लाई में आप कोई भी मैसेज एडिट कर सकते हैं अपने हिसाब से कुछ भी टाइप कर सकते हैं आप जो भी लिखोगे वही रिप्लाई ऑटोमेटिक रिप्लाई में जाएगा।

(b) Greeting message:- (welcome new customers automatically)

ग्रीटिंग मैसेज में जब भी कोई नया कस्टमर या कोई नया यूजर आपको मैसेज करेगा तो इस ग्रीटिंग मैसेज फीचर के जरिए ऑटोमेटिक एक वेलकम मैसेज जो उसके पास चला जाएगा मतलब की ग्रीटिंग मैसेज में जो भी कस्टमर हमें पहली बार मैसेज करता है उसको ऑटोमेटिक अपने आप एक रिप्लाई चला जाता है और इस रिप्लाई को भी आप अपने हिसाब से एडिट कर सकते हैं आप अपने वेलकम मैसेज में क्या लिखना चाहते हैं वह आप अपने हिसाब से लिख सकते हैं।

(c) Labels :- (organise chats and customers)

इसमें आप अपने हिसाब से कस्टमर्स पर लेबल ऐड कर सकते हैं यह लेबल्स आप न्यू कस्टमर भी कौन सा कस्टमर नया है, जिसमें आपसे अभी अभी कांटेक्ट किया है न्यू ऑर्डर भी जिसने अभी नया ऑर्डर किया है, पेंडिंग पेमेंट की जिसकी अभी तक पेमेंट पेंडिंग है, और पेड जिसने आपको पेमेंट कर दिया है और आर्डर कंपलीट इसमें जिन कस्टमर्स का आर्डर कंप्लीट हो चुका है इस हिसाब से आप जो है इन पर लेबल लगा सकते हैं।

(d) only Admin feature:-

व्हाट्सएप बिजनेस में ग्रुप एडमिन के लिए एक खास फीचर दिया गया है जिसमें की एडमिन ऐसी सेटिंग कर सकता है कि केवल वही ग्रुप का नाम चेंज कर सकता है ,ग्रुप का आइकन चेंज कर सकता है और यहां तक की ग्रुप में मैसेज भी एडमिन ही कर सके ऐसी भी सेटिंग व्हाट्सएप बिजनेस में दी गई है


new broadcast in whatsapp

न्यू ब्रॉडकास्ट फीचर हमें व्हाट्सएप और व्हाट्सएप बिजनेस दोनों में मिलता है लेकिन बहुत से लोग हैं जिनको आज तक नहीं पता कि, 

new broadcast in whatsapp
new broadcast

न्यू ब्रॉडकास्ट फीचर को कैसे इस्तेमाल किया जाता है? 

इसलिए इस पॉइंट को भी मैं यहां पर इस पोस्ट में ऐड कर रहा हूं न्यू ब्रॉडकास्ट फीचर हमें ऐसी फैसिलिटी प्रोवाइड करता है जिससे कि आप एक मैसेज को एक साथ बहुत से लोगों तक पहुंचा सकते हैं। 

अगर हम किसी मैसेज को ग्रुप में शेयर करते हैं तो हम एक मैसेज को 5 ग्रुप्स में ही ज्यादा से ज्यादा शेयर कर सकते हैं और new broadcast massage में हम एक मैसेज को उन सभी लोगों तक पहुंचा सकते हैं जिनको हम उस मैसेज को भेजना चाहते हैं आइए आपको बताते हैं कैसे:- 

  • सबसे पहले आपको न्यू ब्रॉडकास्ट ऑप्शन पर क्लिक करना है। 
  • उसके बाद आपको उन लोगों को सेलेक्ट करना है जिनको आप मैसेज भेजना चाहते हैं। 
  • लोगों को सेलेक्ट करने के बाद आप ब्रॉडकास्ट चैट को कोई भी नाम दे सकते हैं। 
  • आपका न्यू ब्रॉडकास्ट बन जाएगा उसके बाद आप भी कोई भी मैसेज उसका चैट बॉक्स में लिखोगे तो वह मैसेज उन सभी लोगों तक पर्सनल चैट में जाएगा जो कि आप ब्रॉडकास्ट मैसेज के जरिए भेजोगे।
  • न्यू ब्रॉडकास्ट मैसेज की यही एक खास विशेषता है कि आप एक मैसेज एक साथ बहुत से लोगों को भेज सकते हो उसका फायदा होता है कि वह मैसेज उन सभी लोगों तक पर्सनल चैट में जाता है ना कि ग्रुप में। 
  • मतलब कि आपको किसी को भी कोई बात कहनी है तो आप ब्रॉडकास्ट में लिख दीजिए, मैसेज टाइप कर दीजिए वह मैसेज ऑटोमेटिक सभी को पर्सनल चैट में मिलेगा आपको सभी को अलग-अलग मैसेज करने की जरूरत नहीं होगी।


व्हाट्सएप बिजनेस अकाउंट क्या है?

व्हाट्सएप बिजनेस अकाउंट जैसे कि नाम से पता चलता है व्हाट्सएप बिजनेस, मतलब की व्हाट्सएप पर बिजनेस का अकाउंट यानी कि आप जो भी बिजनेस करते हैं आपका जो भी काम है किसी भी प्रोडक्ट रिलेटेड तो उस काम या बिजनेस से रिलेटेड आप व्हाट्सएप बिजनेस पर अकाउंट बना सकते हैं व्हाट्सएप बिजनेस एप्लीकेशन के जरिए उस बिजनेस को और ज्यादा ग्रो कर सकते हैं ऑनलाइन प्रोडक्ट्स को शेयर और सेल करके

व्हाट्सएप बिजनेस अकाउंट कैसे बनाएं

  • व्हाट्सएप बिजनेस अकाउंट बनाने के लिए आपको सबसे पहले व्हाट्सएप बिजनेस एप को प्ले स्टोर से डाउनलोड करना है उसके बाद अपने बिजनेस मोबाइल नंबर जो मोबाइल नंबर आपके बिजनेस से जुड़ा हुआ है उस नंबर से आपको व्हाट्सएप बिजनेस पर अकाउंट क्रिएट करना है। 
  • यह वैसा ही है जैसे कि आप नॉर्मल व्हाट्सएप में अपना अकाउंट बनाते हैं वैसे ही आपको अकाउंट क्रिएट कर लेना है
  • अकाउंट क्रिएट करते समय बस यह ध्यान रखना है कि आपको अपने नाम की जगह पर अपने बिजनेस का नाम बिजनेस डिस्क्रिप्शन जो डिटेल बिजनेस डिटेल्स में मैंने बताइए वही आपको बिजनेस अकाउंट क्रिएट करते समय फील करनी है
  • मतलब कि अपने बिजनेस से जुड़ी हुई डिटेल जैसे कि ईमेल आईडी बिजनेस ऐड्रेस बिजनेस डिस्क्रिप्शन आदि


निष्कर्ष :-

दोस्तों आज के इस दौर में व्हाट्सएप बहुत ज्यादा इस्तेमाल किया जा रहा है देखा जाए तो हर किसी का मोबाइल में व्हाट्सएप आपको मिल जाएगा तो आपके पास एक अच्छा मौका है व्हाट्सएप के जरिए अपने बिजनेस को ग्रो करने का अगर आपको यह जानकारी व्हाट्सएप से बिजनेस कैसे करें अच्छी लगी हो तो कृपया इसको अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें। 

धन्यवाद

Sunday, August 29, 2021

flipkart affiliate earnings कैसे करे।

flipkart affiliate या फिर flipkart affiliate program के बारे में तो आपने सुना ही होगा जिसको हम  best affiliate programs for flipkart के नाम से भी जानते हैं लेकिन क्या does flipkart have an affiliate program तो आइए दोस्तों आज हम आपको बताएंगे कि हाउ टू earn from flipkart affiliate .


flipkart affiliate
Flipkart affiliate earnings

flipkart affiliate account sign up

flipkart affiliate new registration करने के लिए आपको गूगल सर्च में फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम लिखकर सर्च करना है और सबसे पहले वाले लिंक पर क्लिक करना है पेज ओपन होने के बाद आपको ज्वाइन नाउ और फ्री पर क्लिक करना है उसके बाद आपको अपनी डिटेल फील करनी है 


flipkart affiliate create account

  • सबसे पहले अपना नाम 
  • फिर अपना ईमेल आईडी 
  • फिर कंट्री कोड
  • अपना मोबाइल नंबर 
  • और अंत में अपनी वेबसाइट या यूट्यूब चैनल का नाम लिखकर आपको ज्वाइन वेटिंग लिस्ट पर क्लिक कर देना 

कुछ समय बाद या कुछ दिनों बाद आपको आपकी ईमेल आईडी पर फ्लिपकार्ट की तरफ से कंफर्मेशन मेल आ जाएगा और आपका अकाउंट भी बन जाएगा

flipkart affiliate se paise kaise kamaye

एफिलिएट प्रोग्राम से पैसा कमाने के लिए आपको सबसे पहले फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन करना है ज्वाइन करने के बाद आपको अपने एफिलिएट लिंक से प्रोडक्ट को अपने दोस्तों में व्हाट्सएप ग्रुप से या फिर फेसबुक ग्रुप्स में या अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर शेयर करना है जब भी कोई आपके द्वारा शेयर किए हुए लिंक से इस प्रोडक्ट को बाय करेगा क्या खरीदेगा तो आपको उसका कमीशन मिलेगा और उस कमीशन के जरिए ही आप पैसा कमा पाएंगे


flipkart affiliate alternative

आज के समय में हर कोई कंपनी अपना एफिलिएट प्रोग्राम लॉन्च कर चुकी है यहां तक की वेब होस्टिंग देने वाली कंपनियों में भी अपना - अपना एफिलिएट प्रोग्राम लांच कर रखा है लेकिन हम यहां पर बात कर रहे हैं शॉपिंग या ई-कॉमर्स कंपनियों के बारे में तो फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम के बाद या फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम के साथ एअर्निंग का दूसरा सोर्स जो है वह है Amazon Affiliate program आज के समय में अमेजॉन एफिलिएट प्रोग्राम से भी बहुत से लोग हजारों - लाखों रुपए कमा रहे हैं तो यहां पर आप फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम के अल्टरनेटिव के रूप में अमेजॉन एफिलिएट प्रोग्राम का भी इस्तेमाल कर सकते हैं


flipkart affiliate approval time

flipkart affiliate capping limit


flipkart affiliate commission on mobile

इस एफिलिएट प्रोग्राम के जरिये आप मोबाइल फ़ोन पर ज्यादा  से ज्यादा 5 % तक ही कमिशन प्राप्त कर सकते है।

affiliate commission on mobile
affiliate commission on mobile

flipkart affiliate customer care

फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम के कस्टमर केयर से बात करने आपको कोई flipkart affiliate helpline number  नहीं मिलता इसके लिए आपको अपने एफिलिएट अकाउंट के contact us  के Tab में जाना है और डिटेल्स फील कर के सेंड फीडबैक पर क्लिक कर देना है। 

flipkart affiliate support

  1. flipkart affiliate email id
  2. Name
  3. Affiliate Tracking ID
  4. Subject
  5. description 


flipkart affiliate fees

फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम  ज्वाइन करने के लिए आपको कोई भी फी नहीं देनी होती इसको आप बिलकुल फ्री में ज्वाइन कर सकते है। 


flipkart affiliate how to earn money

फ्लिपकार्ट एफिलिएट से एअर्निंग करना या पैसे कमाना बहुत ही आसान है इस एफिलिएट प्रोग्राम से हम लोग प्रोडक्ट को शेयर करके ,जब कोई हमारे द्वारा शेयर किए हुए प्रोडक्ट को खरीदता है तो हमें कमीशन मिलता है तो ऐसे ही फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम से हम कमीशन के जरिए पैसा कमाते हैं।


flipkart affiliate marketing commission

इसके लिए आप निचे दिए गए चार्ट को देख कर हिसाब लगा सकते है की आपको किस प्रोडक्ट पर कितना कमिशन मिलेगा।

flipkart affiliate commission

flipkart affiliate commission details
flipkart affiliate commission

flipkart affiliate means

फ्लिपकार्ट एफिलिएट का मतलब है फ्लिपकार्ट का सहयोगी अर्थात इसमें आप फ्लिपकार्ट के सहयोगी के रूप में काम करते हो और बदले में फ्लिपकार्ट आपको कमीशन के रूप में पैसे देता है।


flipkart affiliate minimum payout

flipkart एफिलिएट दो तरीको से पेमेंट करता है। 

Gift card पर मिनिमम 2500 रुपए और यदि अपने दूसरा ऑप्शन का चयन किया है यानि EFT तोह उसके लिए कम से कम 5000 रूपए आपको कमाने होंगे तभी आप भुक्तान ले सकते है


flipkart affiliate payment

महीने में शिप किए गए योग्य उत्पादों के लिए हम आपको मासिक आधार पर रेफ़रल शुल्क का भुगतान करेंगे। आपके संबद्ध खाते में आपके द्वारा चुने गए भुगतान मोड/विकल्प के आधार पर, प्रत्येक कैलेंडर माह के अंत के लगभग 60 दिनों के बाद, हम या तो:

how to withdraw flipkart affiliate money

अर्जित रेफ़रल शुल्क के लिए आपको electronic funds transfer (EFT) के माध्यम से भुगतान भेजें; या

हमारे मानक नियमों या शर्तों के अधीन, आपको Flipkart.com साइट के माध्यम से उत्पादों की खरीद के लिए अच्छा flipkart gift card भेजें।


यदि आप flipkart gift card के माध्यम से भुगतान का चयन करते हैं, तो हम रेफ़रल शुल्क अर्जित करेंगे और तब तक रोकेंगे जब तक कि कुल देय राशि कम से कम INR 25,000 न हो जाए। यदि आप चेक के माध्यम से भुगतान का चयन करते हैं, तो हम 21 जून से प्रभावी होने तक रेफरल शुल्क अर्जित करेंगे और तब तक रोकेंगे जब तक कि कुल देय राशि कम से कम INR 25,000 (सभी आवश्यक दस्तावेजों को फ्लिपकार्ट को ईएफ़टी के माध्यम से भुगतान करने के लिए प्रस्तुत किया गया है) के अधीन है।


EFT भुगतान के लिए आवश्यक दस्तावेज़ इस प्रकार हैं:-

a. Payee Name (Same as PAN)

b. PAN Details

c. IFSC Code

d. Bank Account Number

e. Mailing Address

f. Contact Number (preferably mobile)


1. Scanned copy of canceled check (Bank details mentioned in the linked account)रद्द किए गए चेक की स्कैन की गई कॉपी (सहबद्ध खाते में उल्लिखित बैंक विवरण)। 

यदि आपके पास चेक नहीं है, तो आप हमें अपनी पासबुक या ऑनलाइन बैंक स्टेटमेंट के पहले पेज की स्कैन की हुई कॉपी भेज सकते हैं। हालांकि, उस पर IFSC कोड और बैंक खाता संख्या का उल्लेख किया जाना चाहिए।

2. आपके पैन कार्ड की स्कैन की गई कॉपी (वही नाम जिसके साथ आपने संबद्ध खाते के लिए पंजीकरण किया है)

3. यदि आपने संबद्ध खाते में एक 'Company' के रूप में पंजीकरण कराया है, तो निम्नलिखित 2 अतिरिक्त दस्तावेजों की आवश्यकता होगी:

(a) आपके निगमन प्रमाणपत्र की स्कैन की गई कॉपी (उसी कंपनी का नाम जिसके साथ आपने संबद्ध खाते के लिए पंजीकरण किया है)

(b) आपके GST प्रमाणपत्र की स्कैन की गई कॉपी (उसी कंपनी का नाम जिसके साथ आपने संबद्ध खाते के लिए पंजीकरण किया है)

कृपया सुनिश्चित करें कि सभी विवरण आपके संबद्ध खाते में उल्लिखित विवरण से मेल खाते हैं।


flipkart gift card भुगतान के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं: 

आपके/कंपनी के पैन कार्ड की स्कैन की गई कॉपी (वही नाम जिसके साथ आपने एफिलिएट अकाउंट के लिए पंजीकरण किया है) और एड्रेस प्रूफ की स्कैन कॉपी।


flipkart affiliate payment date

कृपया ध्यान दें कि रेफ़रल शुल्क हर महीने की पहली तारीख को आपके संबद्ध खाते ('मेरा खाता' अनुभाग) में आपके द्वारा उल्लिखित भुगतान मोड/विवरण के अनुसार संसाधित किया जाएगा। यदि आप महीने की पहली तारीख के बाद अपना भुगतान मोड/विवरण बदलते हैं, तो नया भुगतान विवरण अगले महीने के भुगतान चक्र से लागू होगा।


flipkart affiliate program start date

फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम को 5 मई 2018 को लांच किया गया था लेकिन कुछ समय बाद इसमें कुछ प्रोब्लेम्स आने की वजह से इसको रोक दिया गया और कहा गया की इस पर अभी काम चल रहा है। फिर इस साल जून 2021 में फिर से इसको शुरू कर दिया गया है। 


flipkart affiliate without website

जी हां दोस्तों आप बिलकुल बिना किसी वेबसाइट के भी फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन कर  सकते है। आपको करना क्या  आपको एक ईमेल आईडी बनानी है और उससे यूट्यूब पर एक चैनल बना लेना है।

उसी चैनल के लिंक की मदद से आप फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम में अकाउंट आसानी से बना सकते हो। 


flipkart affiliate whatsapp group

व्हाट्सएप ग्रुप की मदद से हम लोग एफिलिएट मार्केटिंग में अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं इसके लिए आपको 10 से 15 व्हाट्सएप ग्रुप ज्वाइन कर लेने हैं या फिर खुद से भी क्रिएट कर सकते हैं और उसमें अपने दोस्तों को ऐड कर सकते हैं और अब आपको अपना फ्लिपकार्ट एफिलिएट अकाउंट लॉगिन करके जो भी प्रोडक्ट आप शेयर करना चाहते हैं उसका एफिलिएट लिंक जनरेट करके उसको व्हाट्सएप के ग्रुप में शेयर कर दीजिए


flipkart grocery affiliate

दोस्तों ग्रॉसरी एक ऐसा प्रोडक्ट है जिसको आप क्लिक कार्ड एफिलिएट प्रोग्राम के जरिए शेयर करके हजारों रुपए महीना कमा सकते हैं क्योंकि इस प्रोडक्ट पर आपको सबसे ज्यादा कमीशन परसेंटेज दिया जाता है और एपलेट प्रोग्राम में कमीशन के जरिए ही पैसा कमाया जाता है तो जिस प्रोडक्ट पर आपको अच्छा खासा कमीशन मिल रहा है उसको शेयर करके आप अच्छा खासा पैसा कमा सकते हैं और ग्रॉसरी पर आपको 18 परसेंट तक का कमीशन दिया जाता है


how much does flipkart affiliate pay

दोस्तों फ्लिपकार्ड एफिलिएट मार्केटिंग या फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम से आप जितना चाहो उतना पैसा कमा सकते हैं यह निर्भर करता है कि आप कौन सा प्रोडक्ट शेयर कर रहे हो और उस पर आपको कितना कमीशन मिल रहा है जितने ज्यादा प्रोडक्ट आप शेयर करोगे इतना ज्यादा कमीशन आपको मिलता रहेगा और आप अच्छा खासा पैसा कमाते रहोगे यह कोई फिक्स नहीं है कि इस फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम से आप कितना पैसा कमा सकते हैं यह आपकी कमीशन पर निर्भर करता है।

साथ ही साथ उस प्रोडक्ट पर जो कि आप शेयर कर रहे हैं क्योंकि प्रोडक्ट के हिसाब से ही आपको कमीशन मिलता है और हर प्रोडक्ट का कमीशन परसेंटेज अलग अलग होता है किसी का कम तो किसी का ज्यादा होता है।


how to become flipkart affiliate

फ्लिपकार्ट एफिलिएट बनने के लिए आपके पास सबसे पहले एक ईमेल आईडी होना बहुत जरूरी है इसके अलावा अगर आपके पास कोई अपनी खुद की वेबसाइट या फिर खुद का कोई यूट्यूब चैनल है तो आप आसानी से फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते हैं लेकिन अगर आपके पास इन दोनों में से वेबसाइट और यूट्यूब चैनल कोई एक भी है तो भी आप फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम आसानी से ज्वाइन कर सकते हैं।


how to generate flipkart affiliate link

how to get flipkart affiliate link

फ्लिपकार्ट एफिलिएट लिंक जनरेट करने के लिए आपको अपना एफिलिएट अकाउंट लॉगइन करना है उसके बाद  सर्च बार में जाकर कोई भी प्रोडक्ट सर्च करना है और उस प्रोडक्ट पर क्लिक करना जैसे वह प्रोडक्ट ओपन होगा उसकी सभी डिटेल उसके नीचे show प्रोडक्ट के राइट साइड में ऊपर आपको एक शेयर का बटन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करके आप उस प्रोडक्ट को अपने किसी भी दोस्त या व्हाट्सएप पर ग्रुप में शेयर कर सकते हैं ऐसे आप एफिलिएट लिंक जनरेट कर सकते हैं।

Related Post:-



आशा करता हूं कि मेरे द्वारा दी गई है जानकारी फ्लिपकार्ट एफिलिएट प्रोग्राम से रनिंग कैसे करें आपको अच्छी लगी होगी तो कृपया करके इसको अपने सभी दोस्तों में जरूर शेयर करें ताकि वह भी इस एफिलिएट प्रोग्राम की सहायता से पैसा कमा सकें। 

धन्यवाद।

Saturday, August 28, 2021

Reverse image search online कैसे चेक करें

Reverse image search kaise करें

रिवर्स इमेज सर्च भी इमेज एस सी ओ का एक पार्ट है रिवर्स इमेज सर्च के बारे में जानने से पहले हमें यह जानना होगा कि रिवर्स इमेज सर्च क्या है रिवर्स इमेज सर्च एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें हम चेक करते हैं कि हमारी पोस्ट पर अपलोड की जाने वाली फोटो पहले से किसी ने इस्तेमाल तो नहीं की नहीं है। जैसे कि इसका नाम से ही पता चलता है रिवर्स इमेज मतलब कि वापस, यानी कि फिर से,

Reverse image search online
Reverse image search online


तो दोस्तों इस पोस्ट में हम जानेंगे कि कैसे हम चेक कर सकते हैं हम जो फोटो अपलोड कर रहे हैं वह पहले से किसी ने अपने ब्लॉगर पोस्ट में इस्तेमाल की हुई है या नहीं उसके लिए आज हम जिस वेबसाइट का इस्तेमाल करने जा रहे हैं उसका नाम है TinEye को इस्तेमाल करने के लिए आपको कुछ Step फॉलो करने होंगे जिनका विवरण नीचे दिया गया है।

सबसे पहले आपने TinEye.com पर लॉग इन करना है और जिस भी ब्राउज़र में आप ने TinEye वेबसाइट को ओपन किया है उसमें TinEye एक्सटेंशन आप इंस्टॉल कर लीजिए अब रिवर्स इमेज सर्च करने के लिए :-


Reverse image search on TinEye

  • जिस भी इमेज को आपने रिवर्स सर्च इमेज या रिवर्स इमेज सर्च करना है उस इमेज को सेलेक्ट कीजिए।
  • माउस से राइट क्लिक कीजिए राइट क्लिक करने के बाद आपको बिल्कुल लास्ट में सेकंड नंबर पर ऑप्शन मिलेगा Search image on TinEye आपने उस ऑप्शन पर क्लिक कर देना। 
        
Search image on TinEye
Search image on TinEye
     
  • उसके बाद आपके सामने न्यू विंडो ओपन होगी जिसमें कि आपको उस इमेज कार रिवर्स इमेज सर्च रिजल्ट दिखाई देगा।
          
Search image on TinEye
Search image on TinEye

  • आपको पता। चल जाएगा कि आपके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली फोटो या पोस्ट में अपलोड की जाने वाली फोटो पहले से कितनी बार इंटरनेट पर अपलोड हो चुकी है

reverse image search क्यों जरूरी है

  • रिवर्स इमेज सर्च करना उतना ही जरूरी है जितना की यूनिक कंटेंट लिखना।
  • अगर हमारी फोटो यूनिक होगी तो हमारे पेज के लिए यह बहुत ज्यादा फायदेमंद होगा क्योंकि यूनिक कंटेंट और यूनिक फोटो का पेज के रैंकिंग में बहुत महत्वपूर्ण योगदान होता है।
  • दूसरा यह कि अगर हम यूनीक कंटेंट और यूनिक फोटो का अच्छे से ऑप्टिमाइज करके अपने पोस्ट पर इस्तेमाल करते हैं तो वह गूगल सर्च में भी आसानी से इंडस हो जाती है।
  • क्योंकि गूगल एल्गोरिदम के नजरिए से गूगल यूनिक फोटो यूनीक कंटेंट को पहले प्रेफरेंस देता है। 
  • आप खुद सोचिए जो फोटो पहले से बहुत सारे ब्लॉगर के द्वारा इस्तेमाल की जा चुकी है और वह ऑलरेडी गूगल सर्च में रैंक कर रहे हैं तो ऐसी फोटो का अपनी पोस्ट पर इस्तेमाल करने से आपके लिए कंपटीशन बढ़ जाएगा और एक नए ब्लॉगर के लिए यह अच्छी बात नहीं है।
  • इसलिए आप अगर अपनी पोस्ट पर फोटो का इस्तेमाल कर रहे हैं तो उसको बिल्कुल यूनीक बनाइए और उसका साइज छोटा रखिए और उसको अच्छे से ऑप्टिमाइज करने के बाद ही उसको अपलोड कीजिए।

How to Make Unique Photo 


How to Make Unique Photo
Make Unique Photo

  1. एक यूनिट फोटो बनाने के लिए आप किसी भी कॉपीराइट फ्री इमेज को डाउनलोड करके उसका बैकग्राउंड रिमूव कर दे या फिर उसपर कुछ टाइप करके उसको यूनिट बना सकते हैं।
  2. इसके अलावा अगर आपको कोई फोटो अच्छी लगती है जो कि आप की पोस्ट पर बिल्कुल फिट है और आपको वही फोटो लगानी है तो आप उसकी फोटो का बैकग्राउंड रिमूव करके या उसमें कुछ थोड़ा बहुत एडिट करके उसको यूनिक बना सकते हैं और यूनीक हुई है या नहीं हुई वह आप TinEye के द्वारा चेक कर सकते हैं।
  3. एग्जांपल के लिए आप मेरे इस ब्लॉग साइट पर जो भी फोटो अपलोड की हुई है उसको TinEye पर सर्च करके देख सकते हैं कि वह यूनिक है या नहीं और मैंने कैसे उनको एडिट किया हुआ है आप ऐसे भी अपनी फोटो को यूनिक बना सकते हैं।

Related Post:-





आशा करता हूं की दी जानकारी आपको अच्छी लगी होगी तो कृपया करके Post को अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें

धन्यवाद

Friday, August 27, 2021

image seo क्या है और कैसे करते हैं।

Image optimization ( Image SEO )क्या है?

दोस्तों पहले भी हम seo के बारे में बात कर चुके हैं लेकिन आज हम इस पोस्ट मे image seo के बारे में विस्तार से जानेंगे seo के बारे में मैंने पहले भी एक पोस्ट या आर्टिकल लिखा था जिसमें मैंने SEO में कौन-कौन सी चीजों का ध्यान रखा जाता है उन सब के बारे में आपको एक शॉर्ट इनफॉरमेशन के जरिए बताया था लेकिन आज हम इमेज SEO के बारे में विस्तार से पड़ेंगे मैंने अपनी इससे पहले की पोस्ट में मेटा डिस्क्रिप्शन टैक्स के बारे में बताया अगर आप मैटर डिस्क्रिप्शन टैक्स के बारे में जानना चाहते हैं तो इसकी पोस्ट की रिलेटेड पोस्ट ना उसका लिंक दिया हुआ है वहां से क्लिक करके भी आप पढ़ सकते हैं अब बात करते हैं -

what is image seo
image SEO


image optimization seo क्या है 


अपने पेज पर जो भी Image Upload करनी हैं उसके size, Format ,caption ,alt text  और Title text को अच्छे से optimization करना ही इमेज एसईओ कहलाता हैं। 
इसके लिए आप image optimizer shopify का भी इस्तेमाल कर सकते हैं :- चलिए अब बात करते seo for photo बारे में।

यूनिक फोटो

इमेज ऑप्टिमाइजेशन करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना है जैसे कि यूनिक फोटो अपनी पोस्ट में कोई भी फोटो अपलोड करने से पहले आपको यह चेक करना है कि आप जो फोटो अपलोड कर रहे हो वह इंटरनेट पर पहले किसी के द्वारा इस्तेमाल की गई हुई ना हो इंटरनेट पर ऐसी बहुत सी साइट है जो हमें कॉपीराइट फ्री इमेज तो प्रोवाइड कर देती है लेकिन वह पहले से बहुत से ब्लॉगर्स के द्वारा इस्तेमाल की जा चुकी होती है इसलिए आपको यह ध्यान रखना है

how to make unique photo
image seo 

जो भी फोटो या पिक आप अपलोड कर रहे हो अपनी पोस्ट में वह अगर यूनिक हो तो बहुत ज्यादा बैटर है आपकी पोस्ट के लिए और आपकी आर्टिकल के लिए अगर आप बिल्कुल यूनिक फोटो क्रिएट नहीं कर सकते हो तो कम से कम आपको ऐसी फोटो इस्तेमाल करनी है अपने पोस्ट के लिए जो कि कम से कम लोगों के द्वारा इस्तेमाल की गई हो और फोटो कितने लोगों द्वारा पहले इस्तेमाल की जा चुकी है यह चेक करने के लिए आप TinEye  का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसा कि नीचे चित्र में दिया गया है अब उनकी मदद से यह जान सकते हैं कि आप जो फोटो इस्तेमाल करने जा रहे हैं अपनी पोस्ट पर वह आपसे पहले कितने लोगों द्वारा इस्तेमाल की गई है
 

Image size SEO:- 

दोस्तों आपको image size कम से कम रखना है। क्योंकि इमेज का साइज छोटे से छोटा रखने पर इमेज यूजर के लिए आसानी से विजिबल होती है अगर इमेज का साइज ज्यादा होगा तोह वो जब कभी भी यूजर पेज पर आएगा तोह ज्यादा heavy size होने की वजह से कई बार image की जगह पर Error आ जाता है और इस  वजह से यूजर इमेज  नहीं पता तोह  कोशीश करे की आपको इमेज का साइज कम से कम ही रखना है। जिससे की वो आसानी से अपलोड हो सके।

अगर कोई फोटो आप अपलोड करना चाहते हैं और उसका साइज बड़ा है तो कम प्रेस करते हुए साइज के छोटे से छोटा करके ही अपलोड करें साइज को कम प्रेस करने के लिए आप प्ले स्टोर से कोई भी ऐप डाउनलोड करके उसकी मदद से इमेज साइज को छोटा कर सकते हैं

 

Image Format SEO :-

 दोस्तों आपको इमेज साइज के साथ साथ उसके फॉर्मेट का भी ख्याल रखना है की SEO फ्रेंडली Format ही इस्तेमाल करना है। जैसे की JP2 ,WebP ये दोनों SEO friendly image format होते है। ये दोनों Format PNG और JPG या JPEG ये seo friendly image formats के लिए अच्छे रहते है। Image SEO की नजर से देखा जाए तो यह दोनों फॉर्मेट ही आपके page के लिए बहुत ही फायदेमंद है यह दोनों इमेज फॉरमैट बहुत जल्दी और तेजी से अपलोड हो जाते हैं जिससे कि आपकी साइट पेज की स्पीड भी बनी रहती है


Image Caption क्या होता है ?

दोस्तों आप लोगो ने देखा होगा की बहुत की जगहों पर Image के नीचे उसके बारे में या फिर वो image किसकी है या फिर उस इमेज में कौन है ( who is in photo ) उसका नाम लिखा होता है इसको ही इमेज caption कहते है। इमेज कैप्शन लिखने से पहले आपको भी ध्यान रखना है कि आपको कैप्शन में वही लिखना है किस हेडिंग के लिए आप उस इमेज का इस्तेमाल कर रहे हैं आप हेडिंग टाइटल को भी कैप्शन में लिख सकते हैं या फिर जो इमेज में दिखाया गया है वह भी आप इमेज के कैप्शन में लिख सकते हैं

 

Image title tags क्या होता है ?

दोस्तों आप इमेज में क्या दिखा रहे है। (what is showing in image ) वो इमेज क्या show कर रही है वही लिखना होता है ,आप अपने keywords को भी टाइटल में लिख सकते है। image title आपको टाइटल का नाम या फिर हेडिंग टाइटल और image alt tags में आपको उस पिक्चर में क्या दिखाया गया है वही alt tags टैक्स लिखनेहोते हैं जो कि एक या दो आप लिख सकते हैं 


alt tags seo कैसे करते हैं

दोस्तों ऑल्ट टैग्स image altrnatives के रूप में काम करते है। ये ऑल्ट टैग्स ही होते है जिनकी मदद से गूगल इमेज को समझता है। की ये इमेज किस चीज़ से रिलेटेड है। (relation of the image)  


 (a) Importance of image alt tags :-

अगर कभी आपकी image load नहीं होती तोह उसकी जगह ये इमेज के Alt tags Text ही शो हो जाते है। क्योकि गूगल crawler image के साथ उसके alt tags को Crawl करने के बाद index करके रख लेते है और इमेज के load न होने पर इनको इमेज की जगह पर Show कर दिया जाता है।

दोस्तों Google crawler इमेज रीड नहीं कर सकता वह आपके द्वारा लिखे गए alt tags के माध्यम से ही आपकी इमेज को पढता है आप जो  alt tags लिखोगे वह उनके जरिए ही आपकी इमेज को शो करना है आपने देखा ही होगा जब भी आप गूगल सर्च में कुछ सर्च करते हो तो नीचे जो tabs बने होते हैं उनमें आपके द्वारा लिखे गए टाइटल का tags के जरिए ही आपकी इमेज शो होती है जैसा की चित्र में दिखाया गया है

Related Post:-






अगर दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो please post को अपने दोस्तों में शेयर जरूर करें

धन्यवाद